बीएसपी नेता मायावती का बयान: लोकसभा चुनाव में किसी से भी नहीं होगा गठबंधन

बीएसपी नेता मायावती का बयान: लोकसभा चुनाव में किसी से भी नहीं होगा गठबंधन

बीएसपी सुप्रीमो का बयान: कांग्रेस के साथ गठबंधन की कोई बात नहीं, मायावती ने खारिज की अफवाहें

09 मार्च 2024

मायावती, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की अध्यक्ष, चर्चा में थी कि वह कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सकती हैं और अपने पूर्व वादे को तोड़ सकती हैं। लेकिन उन्होंने ऐसी खबरों को झूठ कहा है। साथ ही, उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने जा रही है। वह किसी भी राजनीतिक दल से सहयोग नहीं करेगी। मायावती की पार्टी ने पिछले लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी का समर्थन किया था।

मायावती ने अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से एक संदेश भी दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि बीएसपी अपनी शक्ति और दृढ़ता के साथ अकेले लोकसभा चुनाव लड़ रही है। उन्होंने ऐसे अफवाहों का मजाक उड़ाया जो लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने उत्तर प्रदेश में बीएसपी के एकल चुनावी अभियान की महत्वपूर्णता को भी बताया और कहा कि इसे बदले की नीति के रूप में देखा जाना चाहिए।

इससे पहले भी बीएसपी ने पिछले लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया था, लेकिन इस बार उन्होंने स्पष्ट रूप से अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। उन्होंने इस फैसले की वजह बताते हुए कहा कि यूपी में बीएसपी की स्थिति मजबूत है, और उनका अकेले चुनाव लड़ना लोगों को आत्मविश्वास दिलाता है।

मायावती के इस बयान से स्पष्ट होता है कि उनकी पार्टी का किसी और पार्टी के साथ गठबंधन करने का कोई इरादा नहीं है। यह बयान भारतीय राजनीति में एक महत्वपूर्ण घटना है, क्योंकि लोकसभा चुनाव नजदीक हैं और पार्टियों के बीच गठबंधन के बारे में सवाल उठ रहे हैं। इस दौरान, बीएसपी ने तेलंगाना में भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के साथ गठबंधन किया है और वहां चुनावी अखाड़े में भाग ले रही है। इस गठबंधन से उन्हें कुछ फायदा हो सकता है।

देश पोलटिकल