ओलेक्ट्रा ग्रीनटेक के मुनाफ़े में 150% इजाफ़ा, कंपनी ने अपनी दूसरी तिमाही के रिपोर्ट में बताया

ओलेक्ट्रा ग्रीनटेक के मुनाफ़े में 150% इजाफ़ा, कंपनी ने अपनी दूसरी तिमाही के रिपोर्ट में बताया

नयी दिल्ली, 05 नवंबर :

भारत की अग्रणी इलेक्ट्रिक बस निर्माता, ओलेक्ट्रा ग्रीनटेक लिमिटेड (ओजीएल) ने आज 30 सितंबर, 2023 को समाप्त दूसरी तिमाही और छमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा एकसाथ की। निदेशक मंडल ने आज आयोजित एक बैठक में इन वित्तीय निष्कर्षों को औपचारिक रूप से मंजूरी दे दी।

परिणामों के अनुसार, तिमाही के दौरान, ओलेट्रा ने 154 इलेक्ट्रिक वाहन वितरित किए, जो 2022-23 में वितरित 111 बसों की तुलना में 39 % प्रतिशत की वृद्धि है।

23-24 Q2 राजस्व 73% बढ़कर रु. 307.16 करोड़ हो गया। राजस्व में यह उल्लेखनीय वृद्धि अधिक वितरण के कारण दर्ज की गई। कंपनी ने अब तक 1437 इलेक्ट्रिक बसें वितरित की हैं। इस अच्छे प्रदर्शन के लिए निदेशक मंडल ने टीम को बधाई दी है. कंपनी के पास कुल 8,208 इलेक्ट्रिक बसों की ऑर्डर अभी है।

FY23-24 की दूसरी तिमाही में कंपनी का EBITDA रु._ 45.06 करोड़ तक पहुंच गया है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 72% की महत्वपूर्ण वृद्धि दर्शाता है। पीबीटी रु. 26.57 करोड़ तक पहुंच गया है, जो पिछले साल रु. 11.03 करोड़ था, इसमे लगभग 141% की वृद्धि हुई है। पिछले वित्तीय वर्ष में PAT रु. 7.42 करोड़ की तुलना में 150%. बढ़कर रु.18.58 करोड़ हो गया।

कंपनी ने 30 सितंबर, 2023 को समाप्त अवधि के लिए प्रति शेयर आय (ईपीएस) 4.40रुपये की रिपोर्ट की, जबकि 30 सितंबर, 2022 को समाप्त अवधि के लिए 2.95 थी।

पहली छमाही के प्रदर्शन की मुख्य बातें :

FY23-24 की पहली छमाही के लिए राजस्व 14%. बढ़कर रु._ 523.18 करोड़ हो गया। राजस्व में यह उल्लेखनीय वृद्धि वितरण के कारण दर्ज की गई।

इस कैटेगरी में कंपनी का EBITDA सीधे तौर पर रु. 86.57 करोड़ तक पहुंच गया, जो पिछले वर्ष की तुलना में 33% की महत्वपूर्ण वृद्धि दर्शाता है। पीबीटी रु. बढ़कर 51.83 करोड़ हो गया, जो पिछले वित्तीय वर्ष के 33.92 करोड़ रुपये की तुलना में 53% की वृद्धि है। पिछले वित्तीय वर्ष 24.10 करोड़ के तुलना में PAT 52% बढ़कर रु. 36.65 करोड़ हो गया।

परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, ओलेक्ट्रा ग्रीनटेक लिमिटेड के सीएमडी श्री. के. वी. प्रदीप ने कहा, “हमें वित्त वर्ष 23-24 की दूसरी तिमाही और पहली छमाही के लिए अपने समेकित राजस्व और लाभ में मजबूत वृद्धि दर्ज करते हुए खुशी हो रही है। हमारा ध्यान अपनी विनिर्माण क्षमता का विस्तार करने और अपनी प्रौद्योगिकी क्षमताओं को बढ़ाने पर है। हमारे पास एक व्यापक ऑर्डर बुक भी है। ”150 एकड़ में बन रही सीतारामपुर फैक्ट्री का निर्माण तेजी से चल रहा है. उन्होंने कहा कि यह फैक्ट्री हमारी उत्पादन क्षमता को और बढ़ाएगी।

देश