Home देश छह साल बाद भी हाईवे पर 50 हजार वाहन चालकों को जाम से राहत नहीं

छह साल बाद भी हाईवे पर 50 हजार वाहन चालकों को जाम से राहत नहीं

0
छह साल बाद भी हाईवे पर 50 हजार वाहन चालकों को जाम से राहत नहीं

फरीदाबाद। शहर में छह साल बाद भी हाईवे पर बल्लभगढ़ में आरओबी (रेलवे ओवरब्रिज) को चार लेन से बढ़ाकर सात लेने बनाने की योजना सिरे नहीं चढ़ी है। जिससे रोजाना करीब 50 हजार वाहन चालकों को जाम से जूझना पड़ रहा है। खासकर सुबह-शाम नौकरी पेशा लोगों को काफी दिक्कत होती है।
दिल्ली-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग बल्लभगढ़ अनाज मंडी के पास रेलवे लाइन को पार करता है। रेलवे लाइन को पार करने के लिए एनएचएआई ने चार लेन का रेलवे ओवरब्रिज बनाया हुआ है। हाईवे छह लाइन का बनाए जाने के बाद से आरओबी काफी संकरा हो गया है। इस हाईवे से रोजाना करीब 50 हजार से अधिक वाहनों की आवाजाही होती है। आरओबी के आसपास कई बड़ी कंपनियां भी है। जिनमें हजारों लोग काम करते है जो इसी आरओबी से अपनी कंपनियों को जाते है। आरओबी संकरा होने के कारण लोगों को काफी परेशानी से जूझना पड़ता है। इस कारण कई बार वे देरी से भी अपनी कंपनी पहुंचते है। वहीं, अक्सर दुर्घटनाओं की आशंका बनी रहती है। इसे देखते हुए करीब छह साल पहले एनएचएआई ने रेलवे ओवरब्रिज की चौड़ाई बढ़ाने के लिए तीन लेन का एक और रेलवे ओवरब्रिज बनाने का निर्णय लिया था। विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी थी। इसके लिए स्थानीय एनएचएआई कार्यालय ने रेलवे ओवरब्रिज बनाने के मकसद से रेलवे मुख्यालय को पत्र भी लिखा था। पत्र में रेलवे से इस ओवरब्रिज को बनाने की मंजूरी देने की देने का आग्रह किया था। छह साल बाद भी योजना फाइलों से निकलकर धरातल पर नहीं उतर सकी है।


रोजाना रहता है ट्रैफिक जाम


रेलवे ओवरब्रिज ब्रिज की चार लेन होने की वजह से यहां सुबह-शाम ट्रैफिक जाम के हालात बने रहते हैं। मौजूदा समय में दो लेन दिल्ली से आगरा जाने की ओर हैं। इसी तरह आगरा से दिल्ली जाने के लिए दो लेन की व्यवस्था है। यहां पर सब्जी मंडी और अनाज मंडी भी है। इस वजह से यहां ट्रैफिक का काफी दबाव रहता है। इसके अलावा रेलवे ओवरब्रिज के आसपास सेक्टर- 58, 59 और सेक्टर-25 सहित कई औद्योगिक क्षेत्र भी हैं। सुबह-शाम फैक्टरी कर्मचारियों की आवाजाही से भी रेलवे ओवरब्रिज पर जाम लगता है। वहीं पलवल की ओर जाने वाले वाहनों की संख्या भी सुबह-शाम के वक्त बढ़ जाती है। इससे जाम के हालात बने रहते हैं। पिछले काफी समय से रेलवे ओवरब्रिज की चौड़ाई बढ़ाने की तैयारी चल रही थी। लेकिन एनएचएआई बाकी निर्माण कार्यों की वजह से इस दिशा में आगे नहीं बढ़ पा रहा था। लेकिन अब एनएचएआई ने चौड़ाई को बढ़ाने के लिए काम शुरू कर दिया है।


आगरा के लिए चार लेन बनाने की योजना


रेलवे ओवरब्रिज की तीन अतिरिक्त लेन बनने के बाद रेलवे ओवरब्रिज की चौड़ाई सात लेन की हो जाएगी। एनएचएआई की योजना है कि चार लेन दिल्ली से आगरा जाने की ओर बनाई जाएंगी। तीन लेन आगरा से दिल्ली जाने की ओर होंगी। वाहन चालक यहां फर्राटा भर सकेंगे।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here